राहुल का वार- BJP-RSS का एजेंडा था अन्ना आंदोलन, संजय सिंह का पलटवार- अब रोना बंद कीजिए

इंडिया अगेंस्ट करप्शन का आंदोलन, आम आदमी पार्टी का बनना सब भाजपा-RSS का एजेंडा था, ताकि यूपीए सरकार को गिराया जा सके: राहुल गांधी #Congress #politics #AamAadmiParty

           

https://www.facebook.com/aajtak/posts/10160753961892580

वैसे भी कांग्रेस का कोई भविष्य नहीं है..

क्योंकि..ज्यादातर प्रदेश की राजनीति में कांग्रेस का रुख देखकर लगता है कि उनका अस्तित्व आज गठबंधन की राजनीति तक ही सिमित हो चुका है..
याद रहे की..
आज़ादी के बाद सालों तक कांग्रेस का ही दबदबा था..लेकिन साथ साथ ज्यादातर राजनीतिक दलो को लठबंधन के नाम पर दुध पिलाने का काम कांग्रेस ने ही किया है..(दिल्ली में भाजपा को दुर रखने के चक्कर में केजरीवाल सरकार से गठबंधन कांग्रेसने ही किया था)
जो आज उनके गले की फांस बनकर कांग्रेस के अस्तित्व के लिए खतरा साबित हो रहे हैं...
और वो ही दल आज ज्यादातर प्रदेश में कांग्रेस मुक्त भारत का हिस्सा बन रहे हैं

जैसे..
दिल्ली में केजरीवाल..
झारखंड में सोरेन..
कर्नाटक में जेडीएस
तमिल में.. एआइएमडीके
आंध्र मे चंद्र बाबू
बंगाल मे ममता और लेफ्ट
त्रिपुरा मे..लेफट..
कश्मीर मे..अब्दुल्ला..
महाराष्ट्र मे NCP..
बिहार मे लालु..
युपी मे..अखीलेष..और माया
और ..
दक्षिण के ज्यादातर सभी दल

यह सब दल कांग्रेस की गलत नितीओ की ही पैदाइश है...
जो आज लठबंधन के नाम पर कांग्रेस को मुर्ख बनाकर अपनी अपनी जमीन बचाने के लिए अपनी अपनी मजबूती कर रहे है और कांग्रेस को हर प्रदेश से खत्म कर रहे हैं

ज्यादातर प्रदेश में कांग्रेस की हालत कुछ एसी है की..
कल तक खुद के बल पर..खुद के दल की सरकार चलाने वाली कांग्रेस ....लठबंधन के चक्कर और अपनी गलत सोच के कारण खुद ही बरबाद हो चुकी है और अपना वजूद तलाश बचाने को जुज़ रही है..और बाकी बचा उसे राहुल गाँधी बरबाद करने पर तुला है..

अगर राजस्थान और मध्य प्रदेश जैसे राज्य में भी तीसरी पार्टी का वजूद होता तो.. वहा भी कांग्रेस अपना वजूद तलासती नज़र आतीं..

जय हिंद.


+