सुबह की बड़ी खबरें

देखें सुबह की बड़ी खबरें #ATLivestream

           

https://www.facebook.com/aajtak/posts/406201887105208

आखिर कार कल सुप्रीम कोर्ट ने तीनों खेती कानून पर कुछ समय के लिय रोक लगादी मगर खतरा अभी टाला नहीं ज्यों सुप्रीम कोर्ट ने एक्सपर्ट कमिटी बनाई उसे किसान नहीं मान रहे है और नहीं मानेंगे क्योंकि वह बिल के समर्थक है केंद्र सरकार कोर्ट के पीछे छिपकर यह कानून लागू करना चाहती है यह कानून खाली किसान विरोधी नहीं मगर सामन्य जनता के लिय बहोत ही खतरनाक है जैसे esencial commodity act ख़तम करना मतलब कॉर्पोरेट चाहे जितना माल स्टॉक कर पाएंगे तो मनमाने दाम पर बेचेंगे भुगते आम जनता और contract फार्मिंग से अनाज और कपास जैसी फसल को छोड़कर बाकी कमर्शियल फसल उगाही जाएगी मतलब 135 करोड़ भारतीय की भोजन व्यवस्था कॉर्पोरेट के हवाले ज्यों अभी लंगर चलते हैं भंडारे होते है सब बंद हों जाएंगे सारा अनाज कॉर्पोरेट कब्जा करेंगे और अभी ज्यों एकदम ईजी तरीके से मिलनेवाली चीज़ कॉर्पोरेट एक दम कठिन कर देंगे और उसमे राजकीय नेता और पार्टी भागीदार बनेंगे और लोगों की खान पान की आदत को बिगाड़ देंगे (अभी भी बिगाड़ दी) और सब प्रोसेस और पैकिंग मे आम आदमी की सेहत से खिलवाड़ इस बिल मे बहोत कुछ है किसान के साथ साथ आम आदमी को नुकसान करेगा इसीके बजाय किसानो की आय बढ़ाने के लिए उनको एमएसपी की ग्यारंटी दो उसको स्टोरेज facility दो और किसान तो पहले से ही अपना अनाज कहीं भी बेच सकता है उसके लिए नए कानून की जरूरत नहीं है यह सब बात किसान भाई समज गए मगर पढ़े लिखे भक्त गण नहीं समझ रहे और सरकार के विरोध करे तो देश द्रोही राष्ट्र द्रोही बोल देंगे मगर किसान भाई ईन सब को सबक सिखाएँगे और सरकार को झुकना पड़ेगा


+