ट्रैक्टर मार्च के रूट पर बोले राकेश टिकैत

किसान नेता राकेश टिकैत ने की आजतक से खास बातचीत, बताया क्या रहेगा 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च का रूट और किन गाइडलाइन्स का किया जाएगा पालन। #ReporterDiary (रामकिंकर सिंह) अन्य वीडियो:

           

https://www.facebook.com/aajtak/posts/10161283784687580

अब सरकार को अपनी शक्ति का वास्तविक पता चलेगा : सैनिक सेना पुलिस प्रशासनिक अधिकारी कर्मचारी सब किसानों के ही बच्चे हैं भारतीय संस्कृति संस्कार के अनुसार वो अपने माता पिता को कष्ट नहीं पंहुचाएगें इन व्यापारियों की भ्रष्टाचारी सरकार के घटिया पन को वो सभी भी देख रहे हैं वक्त आने पर इस व घमंडी भ्रष्टाचारियों की मदद करने वाली व्यापारी सरकार को इसकी वास्तविक पहचान याद आ जाएगी

ये मुट्ठी भर भ्रष्टाचारी गलत सोच रहे हैं इन दलालों के पास सिर्फ धन है जबकि किसानों और प्रशासनिक अधिकारियों पुलिस सेना सैनिकों के पास वास्तविक देशभक्ति है भ्रष्टाचारियों का अंत करने की शक्ति है ये सभी किसानों के ही बच्चे हैं यह बहरूपिया अहंकारी को भगवान समय रहते सद्बुद्धि दें हिंदुओं की इन्हीं स्वार्थी रक्त की वजह से यह देश हमेशा गुलाम रहा क्योंकि हिन्दुओं में चरित्र ईमानदारी जिम्मेदारी कभी नहीं रही हिन्दुओं ने सिर्फ पैसे और स्वार्थ से ही प्यार किया यह उसी का नतीजा है
पूरा देश रो रहा है त्रस्त हैं सरकारी अत्याचार भ्रष्टाचार से इन्हें इनके कर्म नहीं छोड़ेगे

देशवासियों से जो भी विश्वासघात करेगा चाहे वो कितना भी धनवान बलवान क्यों न हो उसे मूर्खता और भ्रष्टाचार की सजा भगवान और अन्नदाता किसानों का ईश्वर ही देगा

जय हिन्द जय भारत


*अब क्या हुआ
☼☼☼ एक समय था कि अफगानिस्तान में बौद्ध मंदिरों को तोपों से उड़ा दिया गया था और आज वहां के राष्ट्रपति हमारे मुल्क देश पे आतंकवादी हमला हुआ तो उन्होंने दक्षेस सम्मलेन में पाक जाने से मना कर दिया।

☼☼☼ एक समय था जब ईरान हमारी एक नहीं सुनता था, आज उन्हीने भारत को चाबहार
बंदरगाह बनाने और ईरान में अपनी फौजें रखने की इज़ाज़त दे दी।

☼☼☼ एक समय था कि नार्थ ईस्ट में terrorists हमला करके म्यांमार भाग जाते थे। *आज वहां की
सरकार के सहयोग से इंडियन आर्मी ने वहीँ जा के उनके terrorist camps तबाह कर दिए।*

☼☼☼ एक समय था जब खाड़ी देश पाक का साथ देते थे। दाऊद बरसों तक दुबई में शरण लिए रहा।
आज सऊदी अरब ने दाऊद की संपत्ति ही जब्त कर ली।

☼☼☼ एक समय था जब खाड़ी देश भारत को कमजोर और गरीब समझते थे, *आज अचानक क्या
हुआ जो उन्हीने भारत के PM के आगमन पे अपने यहाँ पहला हिन्दू मंदिर बनाने के लिए
जमीन दे दी।*

☼☼☼ आज अचानक क्या हुआ जो बुर्ज खलीफा तिरंगे में रंगा दिखने लगा।

☼☼☼ आज अचानक क्या हुआ जो हमारी 26 जनवरी की परेड में UAE का फौजी दस्ता शामिल
हुआ।

☼☼☼ आज अचानक क्या हुआ जो भारत में इतनी हिम्मत आ गयी कि चीन के अरुणांचल के
बॉर्डर में सड़कें बना ली, हवाई पट्टी बना ली, 100 मिसाइल भी तैनात कर दिए और टैंक की
डिवीजन पोस्ट कर दी।

☼☼☼ आज अचानक क्या हुआ जो USA के नवनिर्वाचित प्रेजिडेंट ने सबसे पहले भारत के PM
को फोन करके आभार व्यक्त किया ।

☼☼☼ आज अचानक क्या हुआ जो ऑस्ट्रेलिया, इंडिया को यूरेनियम देने को राजी हो गया।

☼☼☼ आज अचानक जापान ने इंडिया के साथ युद्धाभ्यास किया ।


"तब मन ने जवाब दिया कि ये सब परिवर्तन आये मात्र छ साल में नरेंद्र मोदी के आगमन के साथ।

प्रश्न- क्या भारत में नरेंद्र मोदी के अलावा वर्तमान नेताओं जैसे कि

लालू,
मुलायम,
अखिलेश,
मायावती
सोनिया,
राहुल,
ममता,
केजरीवाल

आदि में कोई नेता है इस कैलिबर का जो इस प्रकार विश्व को झुका ले !!

इसलिए बंधुओं,
अब फैसला आपको करना है कि घर में ही युद्ध करने वाले चाहिए या घर-द्वार त्याग कर मातृभूमि को समर्पित ऐसा ओजस्वी !

हर बात लाऊडस्पीकर से नहीं बताई जा सकती |

तीन मित्रों को भेजकर राष्ट्


+