किसानों-पुलिस के बयान अलग लेकिन गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर रैली की ऐसी है तैयारी

क्या दिल्ली पुलिस के साथ किसानों की ट्रैक्टर परेड पर सहमति बन चुकी है #FarmersProtest

           

https://www.facebook.com/aajtak/posts/10161283078497580

2017-18 में उर्वरक सबसिडी के लिए 70,000 करोड़ रुपए का आबंटन किया गया।

यह तो बहुत बड़ा घोटाला है क्योंकि प्रति हेक्टेयर यह 5000 के लगभग है ,क्या
एक हेक्टेयर 5000 की खाद डालता है । जबकि इसमें अभी किसान की लागत नहीं है । 900₹ की यूरिया 242₹मे पडती इसके बाद दूकान और अन्य खर्च ।

इसमें अकेले यूरिया पर 55000करोड है । किसान कि लागत को भी जोड दे तो हम 75 हजार करोड़ की यूरिया का प्रयोग करते है । मतलब एक हेक्टेयर अकेले यूरिया का 5500का प्रयोग ।

वास्तव सभी तरह की सब्सिडी कृषि घोटाले को बढा देती है ।
सब का विकल्प नगद हस्तांतरण में है ।


+