प्रवासी भारतीय केंद्र का नाम बदलकर किया गया सुषमा स्वराज भवन

प्रवासी भारतीय केंद्र का बदला गया नाम

           

https://www.facebook.com/aajtak/posts/10159353907322580

कोई पड़ा है, पड़ा ही रहने दो। जैसा है, वैसा ही रहने दो। सोये शेर को जगा कर भले ही पंगा ले लेना, लेकिन भूखे, कमजोर, गरीब, कर्जदार, लड़की, बीमार, मजबूर, बेघर, पीड़ित, दिव्यांग और मरने वाले से जितना बच सकें, उतना ही अच्छा है। क्योंकि इनमें एक रग (नस) ज्यादा होती है। विश्वास न हो, किसी भूखे और जिसने अभी-अभी भोजन किया है, दोनों से पंगा लेकर देखना। भूखा शक्तिशाली होगा तो बनता काम बिगड़ जायेगा, लेकिन कमजोर हुआ और उसके आंसू किसी तगड़े ने देख लिए, सारा नजला (बिगड़े जूकाम के कारण निरंतर निकलने वाला पानी) डाल देगा। नजला डालने का मतलब, जीवन भर के दुखों के लिए किसी एक को जिम्मेदार ठहराना। अतः भूखे से पंगा नहीं लेना, पहले उसका पेट भरो। ना खाये उसकी मर्जी, फिर गलती होने से चाहे 2 के बदले 4 बार डांटो।

मैं साधारण व्यक्ति था। परंतु परिस्थितिवश मुझे वैसे ही बदलना पड़ा, जैसे 1990 में कश्मीर घाटी में भयंकर आतँक होने से Rashtriya Rifles (RR) गठन हुआ। अगर पाकिस्तान भारत से पंगा नहीं लेता तो विश्व में सर्वाधिक सुखद देश होता। अमेरिका-कनाडा सीमा 8891 km है। जहां अमेरिका सैनिक शक्ति में प्रथम है, कनाडा 25वाँ। कभी भी दोनों में मामूली तनाव नहीं होता। झगड़ा होने से World War-II में अमेरिका का अस्तित्व ही खत्म हो जाता।

कनाडा North Atlantic treaty organisation का सदस्य है, इसलिए कनाडा पर हमला NATO पर माना जायेगा। ठीक उसी प्रकार पाक भी भारत से सुरक्षा कवच लेता तो न बंग्लादेश बनता, ना पाक को सेना की जरूरत होती। हाँ, सीमायें लम्बी होने से भारत का रक्षा बजट 20% अवश्य बढ़ जाता। पाक में टमाटर 300 रू Kg है। भारत से पँगा नहीं लेता तो ₹30 होता। कुछ स्वार्थी तत्वों की वजह से पाक जनता बहुत दुख पा रही है, जोकि अब उनकी नित्य आदत में शुमार हो गया।

चुंकि अब जनता जागरूक हो गई, इसलिए राजीव गांधी के दौर में कांग्रेस पतन की शुरुआत होने पर जन्मे जनता दल के विभाजन से बनी चन्द्रशेखर की पार्टी जजपा से निकलकर मुलायम सिंह द्वारा बनी सपा पार्टी के गुंडों को स्वत: अपना सुधार करके जनता को पीड़ित करने का विचार दिमाग से निकाल देना चाहिए। सपाई गुंडे गरीबों पर रौब जमाने के लिए जिन दुष्टों की मदद लेते हैं, ध्यान रखें कि कहीं उन्हीं में कोई विदेशी घुसपेटिया न हो। "चार दिन की चांदनी, फेर अंधेरी होय" तर्ज पर कांग्रेस तथा उसके घटक दलों की इतिश्री होने ही वाली है।

इससे पहले कि सैनिक सेवानिवृत्त हो, भ्रष्ट नेताओं के चाटुकार लूटने के लिए जाल बिछाकर रखते थे। आखिर मौनीबाबा, सोनिया, मुलायम, झांसी सांसद चन्द्रपाल और बबीना थानेदार में ऐसी कौनसी शक्ति थी, जो उनके कई मकान देखते ही दुष्टों का पेशाब निकल जाता था, और मेरे अंदर क्या कमजोरी रही कि मेरे एकमात्र मकान का ताला यह सोचकर तोड़ा, जैसे बेर तोड़ते समय फैंका पत्थर एक आंख होने से सबको समान दृष्टि से देखने वाले महाराजा रणजीत सिंह को लगने से यह कहकर बच्चे को सिक्का दिया कि, जब पेड़ पत्थर खाकर भी फल देता है, मैं तो महाराजा हूं। वैसे ही कांग्रेसी और सपाई गुंडों ने मेरे बारे में सोचा होगा कि जीवित हुआ तो पहली बात मुलायम रक्षामंत्री रह चुका, दूसरी बात साफ-सफाई करने के लिए मकान खोलने का बहाना बना देंगे।

मैं सामान्य व्यक्ति हूँ। लेकिन मुझे मकान का हर्जाना नहीं मिला तो मकान हड़पने से बेघर होने के कारण मुझे अपने आत्म-सम्मान हेतु बड़ा बनना पड़ रहा है।


" विध्य प्रदेश बनाने हेतु समर्थन"सपा अमरपाटन पूर्व विधानसभा प्रत्याशी अमित कुमार तिवारी प्रेस कॉvन्फ्रेंस कर बिंद महोत्सव में श्री नारायण त्रिपाठी जी का समर्थन करता हूं एवं एक ऐसे प्रदेश का निर्माण के लिए प्रतिबद्ध है जो सुदृढ़ समृद्ध एवं स्वावलंबी हो जिसका दृष्टिकोण आधुनिक प्रगतिशील एवं प्रबुद्ध हो और जो अपनी प्राचीन भारतीय संस्कृति एवं मूल्यों से प्रेरणा ग्रहण करता हूं तथा एक ऐसी महान विश्व शक्ति के रूप में भरने में समर्थ हो जो विश्व शांति तथा न्याय युक्त अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था को स्थापित करने के लिए विश्व के लिए विश्व के राष्ट्रों में अपनी प्रभावशाली भूमिका का निर्वहन कर सकें का लक्ष्य एक ऐसे लोकतांत्रिक राज्य की स्थापना करना है जिसमें जाति संप्रदाय अथवा लिंग का भेदभाव किए बिना सभी नागरिकों को राजनीतिक सामाजिक एवं आर्थिक न्याय समान अवसर तथा धार्मिक विश्वास एवं अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता सुनिश्चित हो सके विधि द्वारा स्थापित प्रदेश के संविधान तथा समाजवाद पंप निरपेक्षता और लोकतंत्र के सिद्धांतों के प्रति सच्ची आस्था और निष्ठा रखेगी तथा भारत की प्रभुता एकता और अखंडता को कायम रखेगी किसी भी प्रकार की हिंसा को बढ़ावा नहीं देगी और ना ही उसमें शामिल होगीराष्ट्रवाद और राष्ट्रीय एक आत्मा लोकतंत्र सामाजिक आर्थिक विषयों पर दृष्टिकोण जिससे शोषण मुक्त एवं समय उक्त समाज की स्थापना हो सके सकारात्मक पंथनिरपेक्षता अर्थात सर्वधर्म समभाव मूल्यों पर आधारित राजनीतिक तथा आर्थिक और राजनीतिक विकेंद्रीकरण पर विश्वास करता हूं ऐसे बिंदप्रदेश की स्थापना करने का समर्थन करता हूं एवं प्रदेश के समस्त राजनीतिक दल एवं समस्त राजनेता एवं सामाजिक लोगों से अपील करता हूं कि एकजुट होकर प्रदेश सरकार एवं क्रेन सरकार को ज्ञापन सौंपने का काम किया जाए हमारे विंध्य प्रदेश की स्थापना हो सके जबकि हमारे प्रदेश में बड़े-बड़े उद्योग पाटन स्थान आस्था का क्रेन और अनेक प्रकार की संप्रदाय प्राप्त होती हैं जिससे आयात और निर्यात कर प्रदेश को अच्छे ढंग से चलाया जा सके हमारे प्रदेश में अनेक प्रकार की खनिज संपदा भी पाई जाती हैं जिससे प्रदेश को गति लाने के लिए मजबूती प्रदान करने में सक्षम है मैं अमरपाटन पूर्व प्रत्याशी अमित कुमार तिवारी विंध्य महोत्सव में हुए कार्यक्रम में दिए वक्तव्य श्री नारायण त्रिपाठी जी का समर्थन करते हुए यह मांग करता हूं कि हमारा क्षेत्र हमारा प्रदेश एक विंध्य प्रदेश के रूप में उभरे ऐसी अपेक्षा रखते हुए असेंबलिंग इन पार्लियामेंट में आवाज उठाने का काम हमारे क्षेत्र के नेता करें और हमारे क्षेत्र हमारे विंध्य प्रदेश बनाने में सर्व धर्म सर्व जाति के लोग सहयोग करें सर्व समाज के लोग सहयोग करें मेरा इस बिंद के समस्त लोगों से अनुरोध कर रहा हूं एवं अपील कर रहा हूं


+