कोरोना वायरस की वजह से केंद्र का बड़ा फैसला, NPR अनिश्चितकाल तक स्थगित

एनपीआर की प्रक्रिया कई राज्य 1 अप्रैल से शुरू करने वाले थे

           

https://www.facebook.com/aajtak/posts/10159585819117580

(कश्मीर से एक मैसेज आया है)

कर्फ्यू है, एहतियात से रहिएगा
पानी कम गिराइएगा, नमक कम खाईएगा।

जाफरान की भी चाय बनाई जा सकती है।
आटे में नमक डाल कर, पानी उबालकर
रोटी भी खाई जा सकती है।

चावल की पीच मे छोंक से
एक वक्त की सालन चलाई जा सकती।।

दो कुन्बे एक चुल्हे पर खाना पकाए
साझी लकड़ी जलाएँ ,साथ बैठ खाऐ।।
ऐसे करके बरकत रहती है
चावल की पीपी,तेल की कुप्पी
ज़्यादा दिन चलती है।।

माँ जी की दवाई ख़त्म हो तो
पानी में हल्दी घोलने से आराम आएगा।
अब्बा जी को गुनगुना घी घुटनो में लगाइएगा।।
बच्चे घूमने की ज़िद करें तो
बॉलकनी में कंधे पर घुमा आइएगा।

खिडकी में से पड़ोसी से बात करते रहना।
कुछ कमदिल होते है, दिलासे देते रहना।
उधार लेने देने में शरम नहीं है,
दहशत के बाद अमन में लौटाते रहना।

किसी नाके पर पुलिस पुछे तो
हाँ जी, ना जी में कहना।
आधार, वोटर, लेसंस खोंसे में रखना।

और कई बातें हैं जो तुमे सिखानी है
बस कुछ दिन की बात है,
आपको कौन सा हमारी तरह
कर्फ्यू में उम्र बितानी है..

-एक कश्मीरी #copy Mohd Azeem


+