तबलीगी जमात का मौलाना अरशद मदनी ने किया बचाव, कहा- मरकज ने कोई गलती नहीं की

कोरोना वायरस को लेकर घिरे तबलीगी जमात का जमीयत उलेमा-ए-हिंद के अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने किया बचाव।

           

https://www.facebook.com/aajtak/posts/10159637008402580

मुझको लगता है आपत्ति जमात से नही बल्कि उसके गैर जिम्मेदार रवैये से है, उसने करोंना के विषय मे who व अन्य देशों की अपील को ठुकराते हुवे ,भारत की भावनाओ का सम्मान नही किया है जहाँ देश मुख्यधारा में पुनः आने की सोच रहा है वही जमात से जुड़े लोग अभी भी अपने आपको अस्पतालों व इलाज से दूर रख रहे हैं, जमात से जुड़े लोगों को चाहिए कि खुद सामने आकर डॉ से जांच करवा कर प्रकिया का हिस्सा बने खुद की व देशवासियों की जान आफत में न ड़ालें...कुछ दिनों तक जमात की चर्चा को विराम दे कर ,जमात के मुखिया से अपील कर वा के देश भर में जमातियों को इलाज के लिए बाहर निकाल कर समस्याओं का हल ढूढ़ना चाहिए..


इन सभी को जेल भेजो
भारत सरकार रिलीजियस वीजा यानी धार्मिक वीजा नहीं देती... यानी कोई भी विदेशी व्यक्ति भारत में धर्म प्रचार करने या किसी धर्म प्रचार वाले जलसे में शामिल नहीं हो सकता।

यह जितने भी तबलीगी जमात के ऑफिस में विदेशी पकड़े गए हैं यह सब के सब टूरिस्ट वीजा पर आए थे और खुलेआम वीजा नियमों का उल्लंघन करके यह धार्मिक गतिविधियां करने लगे थे

तबलीगी जमात के प्रवक्ता बार-बार टीवी पर बोल रहे हैं कि हमने कोई गलती नहीं की लेकिन अफसोस कोई भी एंकर इनके गाल पर दो तमाचा मार कर यह नहीं बता रहा कि जब तुम्हारे यहां पर टूरिस्ट वीजा पर आया व्यक्ति धार्मिक कार्यक्रम कर रहा है यानी वह खुलेआम भारत के कानूनों का उल्लंघन कर रहा है तब क्या तुम्हारी यह ड्यूटी यह फर्ज नहीं था कि तुम पुलिस को इसकी सूचना देते??


निज़ामुद्दीन मरकज़ से press रिलीज़ के ख़ास बिंदु
1. 3-5 दिन का प्रोग्राम एक साल पहले से तय था
2. 21 मार्च को रेलवे बंद कर दिया गया
3. 22 मार्च को जनता curfew का एलान होते ही सारे प्रोग्राम रद्द कर दिया गया
4. रेलवे बंद होने के वजह से कोई जा नहीं सके
5. 23 मार्च से लाक़ डावुन शुरू हो गया ,लोग फँस गए
6. 24 मार्च को SHO ने मरकज़ बंद करने की माँग की
7. मरकज़ ने फ़ँसे लोगों को मंज़िल तक छोड़ने के लिए गाड़ी नम्बर और driver की list दी जिसे प्रशासन ने अनुमति माँगी नहीं मिला
8. 25 मार्च को मेडिकल टीम ने लोगों की जाँच की
9. 26 मार्च एसडीएम ने मरकज़ का दौरा किया इस दौरान फिर गाड़ी से इन लोगों को छोड़ने की अनुमति माँगी नहीं मिला
11. 27 मार्च 6 लोगों को चेक़अप के लिए गया
11.28 मार्च 33 आदमी को राजीव गाँधी अस्पताल में चेकअप के लिए ले जाया गया
12. 29 मार्च को फिर से प्रशासन को मरकज़ के तरफ़ से details दिया गया
13. 30 मार्च को अफ़वाह फैलानी शुरू हुई

पुरा पढ़ने के बाद सोचिए
ज़िम्मेदार कौन ????
सोचिए और क़मिनोलोज़ी समझिए
प्रशासन के तरफ़ से षड्यंत्र की बू आ रही है।
खबर के अंदर की खबर निकलना सीखो बन्धु वरना #गोदी मीडिया आपको उनसे नफरत नफरत करना सीखा देगी जिनसे मोहब्बत करना था।



*—प्रेस नोट—*
*(तबलीगी जमात की टीमे जो जनपद मीरजापुर से देहरादून उत्तराखण्ड गयी है )*
तबलीकी जमात के सम्बन्ध में वर्तमान समय में COVID-19 कोरोना के संक्रमण के अतिसंवेदनशीलता के दृष्टिगत जनपद मीरजापुर से तबलीक जमात की दो टीमें देहरादून उत्तराखण्ड गयी है जिनका विवरण निम्नवत् है —
1. दिनांक 12.02.2020 को निम्नलिखित मीरजापुर निवासी तबलीकी जमात के लोग देहरादून उत्तराखण्ड गए है जो अक्सा मस्जिद कावली गांव जंगल महादेव सिंह रोड थाना बसंत बिहार देहरादून उत्तराखण्ड में रूके हुए है जिसकी जानकारी वहाँ के स्थानीय प्रशासन को है ।
(1) अकबर इमाम पुत्र स्व0 अजहर इमाम निवासी रामबाग थाना कोतवाली शहर मीरजापुर ।
(2) डॉ0 इजहार अहमद पुत्र एखलाक अहमद निवासी चितावनपुर थाना कोतवाली देहात मीरजापुर ।
(3) शाहीद लतीफ पुत्र स्व0 वशीर अहमद निवासी नटवां थाना कोतवाली कटरा मीरजापुर ।
(4) कमाल अहमद पुत्र स्व0 लाल मोहम्मद निवासी हयातनगर थाना कोतवली कटरा मीरजापुर ।
(5) मौलाना तलहा पुत्र स्व0 शकील अहमद निवासी आवास विकास कॉलोनी थाना कोतवाली कटरा मीरजापुर ।
(6) जहांगीर पुत्र स्व0 अब्दुल मजीद निवासी हयातनगर थाना कोतवाली कटरा मीरजापुर ।
(7) बिलाल पुत्र स्व0 अमीर निवासी बाग कुंचलगिर थाना कोतवाली कटरा मीरजापुर ।
2. दिनांक 12.03.2020 को निम्नलिखित मीरजापुर निवासी तबलीकी जमात के लोग देहरादून उत्तराखण्ड गए है जो मदरसा इसातुल कुरान ग्राम जीवनगढ़ थाना विकासनगर देहरादून उत्तराखण्ड में रूके हुए है जिसकी जानकारी वहाँ के स्थानीय प्रशासन को है —
(1) अमन नूरूल्लाह पुत्र स्व0 रईश निवासी वासलीगंज घण्टाघर थाना कोतवाली शहर मीरजापुर ।
(2) हाफिज अर्सलान पुत्र स्व0 इस्तेखार निवासी उरोक्त ।
(3) याकूब पुत्र अब्दुल रसीद निवासी रामबाग थाना कोतवाली शहर मीरजापुर ।
(4) एजाज खां पुत्र जावेद अहमद निवासी वासलीगंज थाना कोतवली शहर मीरजापुर ।
(5) अब्दुल कलाम पुत्र इस्लाम निवासी उपरोक्त ।
(6) रिजवान पुत्र नौसाद निवासी रमईपट्टी थाना कोतवाली शहर मीरजापुर ।
(7) अय्याज पुत्र रियाजूद्दीन निवासी टेढ़ीनीम थाना कोतवाली कटरा मीरजापुर ।
(8) सैफ पुत्र शाकिर अली निवासी उपरोक्त ।
(9) अब्दुल वजैफ पुत्र हाफिज अख्तर निवासी बाग कुंजलगिर थाना कोतवाली कटरा मीरजापुर ।
उपरोक्त व्यक्तियों के घर वालों को हिदायत की गयी है कि यदि इनमें से कोई व्यक्ति मीरजापुर आता है तो उसकी सूचना तत्काल प्रशासन को दे जिससे चिकित्सीय परीक्षण व अन्य कार्यवाही की जा सके । यदि सूचना नही देते है तो उनके विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही की जायेगी ।


नबीन संगमाजी कुछ भी लिखने सेपहले उसके बारे मे पूरी जानकारी लेलेनी चाहिए । परोगराम सरकार की अनुमति से हुए थे । बन्द लागू होने के बाद उन्होने पौलि एस डी एम व डी एम को पतृ लिखा । परशासन शे कोई मदद नही की । बाद मे अपनी गलतियो को छुपाने के लिए यह सारा नाटक खेला है । कनिका कपूर ने यू पी मे पारटी की तब कोरोना नही फेला, योगी ने लशकर के साथ रामलला मन्दिर गये तब कोरोना नही फेला, शिवराज सिह नेशपथ गरहन समारोह किया तब कोरोना नही फैला,वैषनोदेवी मन्दिर मे लोग फंसे है तब कोरोना नही फैला, तिरूपति मन्दिर मे मेले मे इकट्ठा होने पर कोरोना नही फेला । सिरफ जमात वालो ने कोरोना फैला दिया ।


+