CM अरविन्द केजरीवाल की प्रेस वार्ता

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की प्रेस वार्ता | #ATLivestream

           

https://www.facebook.com/aajtak/posts/2169682619828526

फ्री पानी , बिजली , राशन का लालच देकर लोगों को गुमराह करके दो दो बार मुख्यमंत्री बने केजरीवाल ने समय के आगे घुटने टेक दिए है । अब दिल्ली के लोगो की जान बचाने के लिए न तो अस्पतालों में बेड मिल रहे है और न ही ऑक्सीजन उनको जो बेड पर लेटे हुए है ।
जिन सरकारों को बदनाम कर करके केजरीवाल ने चुनाव जीता था आज खुद उन्हीं भाजपा सरकारों के सामने घुटने टेके खड़ा है ।
निसंदेह हरियाणा व केंद्र सरकार दिल्ली की मदद करेंगे , पर केजरीवाल व दिल्ली वालों को देखना व सीखना चाहिए कि कौन किससे बेहतर है ।


पहले post ko पूरा पढ़ो फिर डाउनलोड करो

Pan india hiring no charges

Free join free join

Qualification -- Does not Matter

App दे रही है घर बैठे काम करने का मौका आज ही install करे और काम start करे

बैंक account open kro or pao - 275 rupees Per Account सीधे आपके बैंक Account ya paytm में

Demat 800 rs.payout

Angel broking 375 Rs. start

Equitas 100 Rs.

Indusind bank 210 payout

Or......

और वो भी तुरंत जरूर try करे आज ही

कोई Mediater नही होगा सीधा पेमेंट ऐप से होगा आपके अकाउंट

*App Download link*

https://play.google.com/s...%3DOne@arman113

Full time full support
Self start kra work.....


केजरीवाल सरकार दिल्ली में बहुत काम किया है पर तैयारी कर लीजिए सर जिस तरह हॉस्पिटलों में ऑक्सीजन की कमी हो रही है तो क्या यह कदम नहीं उठाया जा सकता कि दिल्ली के बड़े-बड़े जो हॉस्पिटल है उन हॉस्पिटलों में ही कहीं ऑक्सीजन प्लांट की व्यवस्था की जाए जिस तरह हिमाचल में राजा वीर पत्थर कांग्रेश के मुख्यमंत्री ने की थी दो या सतारा में अपने पैसे से अपने हिमाचली ओ की सुविधा के लिए जो हॉस्पिटलों में आते हैं उसी प्रकार दिल्ली भी और अन्य राज्य भी अपने-अपने बड़े-बड़े हॉस्पिटलों में ऐसी व्यवस्थाएं करें की ऑक्सीजन प्लांट लगाए जाएं ताकि हॉस्पिटलों में दोबारा कभी इस तरह की ऑक्सीजन की कमी की दिक्कत ना आए



अबे बेशर्म पिछले साल से टीवी चैनलों पर भौंकता है हमने दिल्ली में ये इंतजाम किया वो किया पिछले एक साल में जितना पैसा टीवी में अपनी शक्ल दिखाने में खर्च कर रहा है उतना अगर सही से खर्च करता तो आज जनता को ये दिन ना देखना पडता । आज पडोसी राज्यो को उपदेश दे रहा है पिछले साल लाकङाऊन में मजदूरों के इलाकों में रात दो बजे झूठी खबर एलान करवा दिया कि बिहार के लिए बसों का इंतजाम कर दिया है और फिर रात को ही मजबूर मजदूरों को दिल्ली बार्डर पर छोड़ दिया लानत है तुम जैसे नेताओं पर ।


1 राजस्थान के जादूगर श्री गहलोत दुनिया जी ने कल पीएम को फोन किया - oxyegn की shortage है।

2. दुनिया के महावसूली CM Udhav जी ने कल पीएम को फोन किया - oxyegn की shortage है।

3. दिल्ली के झूठ की फैक्ट्री के मालिक, सबसे बड़े मक्कार नौटंकी फर्जीवाल, झूठे विज्ञापनबाज, U turn specialist, ने TV के माध्यम से PM को बताया कि oxygen, bed, दवाईयां सब चीजों की shortage है।

4. पंजाब के Captain साब ने NDTV की शरण ली PM को बताने को के oxyegn की shortage है।

5. वंही गोरख मठ के महंत CM योगी बाबा ने अपने अफसरों को फोन किया के प्रदेश में oxygen की कमी की आपूर्ति करो। 48 घण्टे में 20,000 लीटर capacity का प्लांट बन कर oxyegn बनाने लग गया। ऐसे 8-10 और प्लांट बन रहे हैं।

नोट:- अगर आप समस्या का हल नहीं कर सकते हैं, तो इसका अर्थ आप स्वयं एक समस्या हो। कुर्सी क्यों पकड़ी हुई है??? सोचिए जरा???


Working Styles -- कार्यशैलियाँ:

1. दुनिया के Best CM of महा वसूली अघाड़ी के उद्धव जी ने कल पीएम को फोन किया - oxygen की shortage है!

2. दिल्ली के हरिश्चंद्र के अंतिम कॉपीराइट, International प्रचार एक्सपर्ट सरजी ने TV के माध्यम से PM को बताया के oxygen की shortage है!

3. पंजाब वाले Captain साहब ने NDTV की शरण ली है, PM को ये बताने के लिए कि oxygen की shortage है!

वहीं,गोरख मठ के महंत CM योगी बाबा ने अपने अफसरों को फोन किया के प्रदेश में oxygen की कमी की आपूर्ति करो।
48 घण्टे में 20,000 लीटर capacity का प्लांट बन कर oxyegn बनाने लग गया। ऐसे 8-10 और प्लांट बन रहे हैं।

पर Good मूव पहले वाले 3 CM की मानी जाएगी क्योंकि उन्होंने प्रेस को oxygen दी है, जनता मरती है तो मरे.. बिल मोदी के नाम फाड़ देंगे!


"कुछ चैनलों, अखबारों और मीडिया को समर्पित .."

इतने निचले स्तर पर प्रसारण केवल हमारे देश में ही हो सकता है ...!


जलती हुई चीता ...
मरीजों से भरे अस्पताल ...
कब्रिस्तान में मृतकों की लाइन ...
अस्वस्थ रिश्तेदार ...

ये सब करके आप क्या साबित करना चाहते हैं ... ??

महामारी है ...
सब को पता है
स्थिति नियंत्रण से बाहर है ...
यह सबको पता है

आपको दिखाना चाहिए… !!

अच्छे हुए रोगियों के इंटरव्यू दिखाएं ...
ऑक्सीजन सिलेंडर कहां से मिलेगा ...
दिखाएँ कि कौन से अस्पताल के बिस्तर उपलब्ध हैं ...
दिखाएँ कि कितने और कहाँ प्लाज्मा दाता हैं ...
दिखाएँ कि एम्बुलेंस सेवा कहाँ उपलब्ध है ...
टीकाकरण के बारे में जागरूकता बढ़ाएं ...
केवल उन रोगियों के आंकड़े दिखाएं जो हर दिन कोरोना मुक्त हो जाते हैं ...

इससे बहुत सारी अच्छी चीजें होंगी।

केवल "ब्रेकिंग न्यूज", "चौंकाने वाली खबर" और सनसनीखेज खबरें दिखाकर आम जनता के मन में भय फैलाने वाले क्या साबित करने जा रहे हैं .... ??


India Speaks Daily
·
जनवरी 2021 में स्वास्थ्य मंत्रालय ने सभी राज्यों को अलर्ट भेजा था #Covid19India के द्वितीय लहर को लेकर (Pic1 देखें) लेकिन कांग्रेस की राज्य सरकारों ने राहुल गांधी की राजनीति को चमकाने के लिए इसे इग्नोर किया, टीकाकरण का बहिष्कार (स्पेशली छत्तीसगढ़) किया और आज अपने 'पेटीकोट पत्रकारों' के बल पर झूठ (pic2 देखें) फैला रहे हैं कि मोदी सरकार ने सचेत नहीं किया।
सच दिखाओ/बताओ तो गुलामों को मिर्ची लग जाती है! #CoronaVirusUpdates:
Union Health Secretary writes to Maharashtra, Kerala, Chhattisgarh, and West Bengal
States urged to take prompt steps and to keep a ‘strict vigil’ to curb recent spike in COVID cases
Ministry of Health and Family Welfare
COVID19 Update

Union Health Secretary writes to Maharashtra, Kerala, Chhattisgarh, and West Bengal

https://www.facebook.com/...043193679257359

https://www.facebook.com/...043193712590689

States urged to take prompt steps and to keep a ‘strict vigil’ to curb recent spike in COVID cases Posted On: 07 JAN 2021 6:22PM by PIB Delhi
https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1686845


कुछ चैनल, पेपर इत्यादि को समर्पित।


इतनी नीच स्तर की रिपोर्टिंग केवल अपने देश में होती है
धधकती हुई चिताएं ,, और जब तक उस चिता की राख ठंडी ना हो जाए तब तक उसकी फोटो लेते रहेंगे ,
भरे हॉस्पिटल
तड़पते बिलखते मरीज ,
परेशान परिजन और उनसे तब तक question करते रहेंगे जब तक परिजन रो नही जाते फिर कहेंगे ये देखो परिजन रो रहे है ,,
आखिर यह सब दिखाकर क्या जताना चाहते हैं आप।
महामारी है हम सबको पता है। आउट ऑफ कंट्रोल है यह भी सबको पता है।
रिपोर्टिंग करिए
ठीक हुए मरीजों का interview कराइए ,,
ऑक्सीजन सिलेंडर कहां मिल रहा है यह बताइए
किस हॉस्पिटल में बेड खाली है यह बताएं
मरीज ठीक भी हो रहे है ये क्यों नही बताते आप लोग, बस डराना है और बस डराना ही है ,,
एंबुलेंस सर्विस की डिटेल दें।
Doctors के पॉजिटिव interview दिखाईये
लेकिन नहीं आपको तो सनसनी चाहिए ,, रोते - बिलखते मरीज चाहिए ,,
घबराहट फैला कर क्या साबित करना चाहते हैं आप ?
लोग जितना बीमारी से परेशान नही है उतना आपकी इस घटिया स्तर की न्यूज़ से हो गए है ,,
केवल अपने चैनल की टीआरपी ही मत बढ़ाइए।
समस्याओ का समाधान ढूढे और
ढूढ़ने मे मदद करे


+